टिक-टॉक के खिलाफ मैदान में उतरी सोशल मीडिया, ट्विटर पर टॉप ट्रेंड हुआ #जिहादी_TikTok बैन करो

चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस पूरी दुनिया में आतंक मचा रहा है। इस खतरनाक वायरस से दुनियाभर में अबतक 50 हजार से ज्यादा मौतें हो गई हैं। पूरी दुनिया अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही है। भारत और पूरी दुनिया इस वायरस का दंश भुगतने को मजबूर है।

कोरोना को अब ‘चाइनीज़ वायरस’ कहा जा रहा है। इसके अलावा भारत में अब चीन के खिलाफ भावनाएं भी उभर रही हैं और इसके साथ ही भारत सरकार से ‘टिक टॉक’ पर प्रतिबंध लगाने की मांग भी उठने लगी है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि – ट्विटर पर टिक-टॉक को जिहादी बताया जा रहा है और इसे बैन करने की मांग की जा रही है। ट्विटर पर इस समय #जिहादी_TikTok टॉप ट्रेंड चल रहा है। इस ट्रेंड पर महज एक घंटे के भीतर 25 हजार से ज्यादा ट्वीट हो चुके है।

https://twitter.com/TheAtul_IND/status/1246403190330781696?s=20

सोशल मीडिया यूजरों का कहना है की टिक-टॉक जिहाद और अफवाहों का मुख्य अड्डा बन चुका है। इसलिए इसे बंद करना ही उचित होगा। लोगों का मानना है की, टिक-टॉक पर 70-80 फीसदी मुस्लिम समुदाय के लोग हैं। जिन्हें टिक-टॉक जिहाद करने के लिए कपड़े जूते और पैसे दिए देता है। ज्यादातर हिन्दू लड़किया जिहादी टिकटकियों की फैन बन जाती हैं और बातचीत करने लगती हैं। फिर मामला मुलाक़ात तक पहुँच जाता है। और फिर बाद में वो जिहाद का शिकार हो जाती हैं। टिक-टॉक पर आये दिन ऐसे वीडियो वायरल होते रहते हैं जो जिहाद को बढ़ावा देते हैं। शायद इसलिए अब सोशल मीडिया टिक-टॉक के खिलाफ मैदान में उतर आई है।

https://twitter.com/TheAnujBajpai/status/1246395647093161986?s=20

इसके अलावा कोरोना वायरस को लेकर टिक-टॉक पर कई ऐसे वीडियो वॉयरल हो रहे हैं जिन्हें देखकर कम जागरूप लोग भ्रमित हो जाते हैं और अफवाह का शिकार होने में देर नहीं लगती। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि – कई देशों में टिक-टॉक बैन है। मद्रास हाईकोर्ट ने भी टिक-टॉक पर बैन लगाया है।

https://twitter.com/PrayagrajWale/status/1246385221286555650?s=20

https://twitter.com/iSinghAjay23/status/1246386797187174401?s=20

टिक-टॉक पर ऐसे कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें विरोधाभास और कोरोना वायरस से बचने के उपाय दिए गए हैं। और लोग भ्र्म में आकर उपाय करने भी लगते हैं। जबकि हकीकत ये है की कोरोना का अभी तक कोई ईलाज नहीं है। दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोना का ईलाज ढूढ़ने में लगे हुए लेकिन अभी तक सब असलफल साबित हुए हैं।

loading...