मुंबई: बांद्रा के मजदूरों को गुमराह करने वाला विनय दूबे दबोचा गया, जानें कौन है ये?

बांद्रा, 15 अप्रैल: मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर कल शाम इकठ्ठा हुई भीड़ को गुमराह करने के आरोप में पुलिस ने विनय दूबे नाम के एक आदमी को गिरफ्तार किया है। विनय दुबे को नवी मुंबई पुलिस ने हिरासत में लिया और मुंबई पुलिस को सौंप दिया। लॉकडाउन के बीच विनय दुबे पर भीड़ को गुमराह करने का आरोप है।

जानकारी के अनुसार, विनय दुबे ‘चलो घर की ओर’ कैंपेन चला रहा था. अपने फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में उसने टीम के बांद्रा में होने की बात कही थी। इस मामले में पुलिस ने एक हजार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। दुबे के खिलाफ आईपीसी की धारा 117, 153 ए, 188, 269, 270, 505(2) और एपिडेमिक एक्ट की धारा 3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

कौन है विनय दूबे

विनय दूबे के फेसबुक अकाउंट पर दी गई जानकारी के मुताबिक वह नवी मुंबई का रहने वाला है। उसने खुद को उद्यमी और सामाजिक कार्यकर्ता बताया है। फेसबुक पर विनय ने कई पोस्ट शेयर किए हैं, इनमें से एक वीडियो में वह कहता सुनाई देता है कि उसने महाराष्ट्र में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए 40 बसों का इंतजाम किया है, ताकि नि:शुल्क रूप से इन मजदूरों को उनके मूल घरों तक पहुंचाया जा सके। राज्य सरकारों से इसकी अनुमति मांगी परंतु अभी तक नहीं मिली है। वीडियो पोस्ट में इसी तरह की कई बातें विनय ने साझा की हैं।

इसके अलावा विनय दूबे मनसे प्रमुख राज ठाकरे के साथ मंच साझा करता दिखाई पड़ता है। इसके अलावा महाराष्ट्र के बड़े नेताओं के साथ विनय दूबे का अच्छा सम्बन्ध हैं, ऐसा हम नहीं बल्कि विनय दूबे के फेसबुक पर अपलोड की गई तस्वीरें गवाही दे रही हैं।

बता दें कि – मंगलवार को मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई थी. ये सभी मजदूर घर जाने के लिए स्टेशन पहुंचे थे. उन्हें हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था. हालांकि अब वहां से प्रवासी मजदूरों को हटा दिया गया है, और लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है।

loading...