निजामुद्दीन कांड के बाद दाढ़ी वालों को देखते ही कोरोना-कोरोना चिल्ला दूर भाग जा रहे हैं लोग

नई दिल्ली, 3 अप्रैल: निजामुद्दीन तब्लीगी जमात के बाद अब कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। अब तक देश में 2 हजार से ज्यादा कोरोना के पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। 72 लोगों की इस जानलेवा वायरस से मौत हुई है। निजामुद्दीन में आयोजित एक जमात ने पूरे देश में हड़कंप मचा दिया है।

गृह मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, 9000 तबलीगी जमात से जुड़े सदस्यों और उनके संपर्कों की पहचान की गई है और उन्हें क्वॉरंटीन में रखा गया है। जिन 9000 तबलीगी जमात के कार्यकर्ता और उनसे संपर्क में आए लोगों की पहचान हुई है उनमें 1306 विदेशी हैं और बाकी भारतीय हैं। तबलीगी जमात निज़ामुद्दीन मामले में 960 विदेशियों को ब्लैकलिस्ट और जमात से संबंधित गतिविधियों में शामिल होने के कारण उनका पर्यटक वीज़ा भी रद्द कर दिया गया है।

MHA ने दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित राज्यों के DGP को तबलीगी जमात निज़ामुद्दीन मामले में 960 विदेशियों के खिलाफ विदेशी अधिनियम, 1946 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। निजामुद्दीन काण्ड के बाद लोग दाढ़ी वालों को देखते ही कोरोना-कोरोना चिल्लाकर दूर भाग जा रहे हैं। इसका सबसे ताजा उदाहरण हरियाणा से आया है।

हरियाणा के फरीदाबाद जिले के सेक्टर 21 में गुरुवार को उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस की एक गाड़ी सेक्टर 21 पहुँची और उस गाडी में लगभग एक दर्जन लोग थे। उन लोगों की बड़े दाढ़ी देख लोग कोरोना, कोरोना चिल्लाने लगे और लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। लोगों ने कहा कि हम इन्हे यहाँ नहीं रहने देंगे। क्योंकि ये लोग थूक कर पूरे देश में कोरोना फैला रहे हैं और ऐसे लोग देश के दुश्मन हैं। इसके बाद पुलिस ने जमातियों को दूसरी जगह शिफ्ट किया।

Sponsored Articles
loading...