देशभर में कोरोना फैलाने वाले जमातियों के बचाव में उतरी ममता बनर्जी, सवाल पूछने पर बोलीं,..?

कोलकाता, 8 अप्रैल: देश-दुनिया में कोरोना वायरस जमकर हाहाकार मचा रहा है। इस जानलेवा वायरस से न सिर्फ लोगों की जान जा रही है बल्कि अर्थव्यवस्था भी चरमरा रही है। भारत सरकार ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया है। जो 14 अप्रैल तक चलेगा। इस बीच कोरोना को काफी हद तक काबू कर लिया गया था। विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने भी भारत के इस कदम की जमकर तारीफ की थी लेकिन अचानक निजामुद्दीन तब्लीगी जमात की करतूत के कारण देश में रॉकेट के रफ़्तार से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने लगी।

नतीजा ये निकला की अचानक देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 5 हजार के पार चली गई। जिसमें 40 फीसदी से ज्यादा जमाती हैं। तब्लीगी जमात के कारण देश के 17 राज्यों में कोरोना फ़ैल गया। सभी राज्य कोरोना मरीजों की रोजाना हो रही वृद्धि के लिए तब्लीगी जमात को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जमातियों का बचाव करने मैदान में आ गयी हैं।

दरअसल केंद्र सरकार सहित हर राज्य रोजाना कोरोना को लेकर प्रेस-कॉन्फ्रेंस करते हैं और जानकारी देते हैं की कोरोना के कितने नये मरीज आये, कितने लोगों की मौत हुई और कितने लोगों को रिकवर किया गया। साथ में ये भी बताते हैं की तब्लीगी जमात के कितने लोग कोरोना से संक्रमित हैं। लेकिन ममता बनर्जी जमातियों के बारे में कोई भी जानकारी देने से इनकार कर रही हैं। जमातियों के बारे में सवाल पूछने पर ममता बनर्जी कह रही हैं। कम्युनल सवाल मत करो।

बता दें की – मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना को लेकर एक प्रेस-कॉन्फ्रेंस की, इस दौरान ममता ने अपने राज्‍य के उन लोगों के बारे में कोई भी अपडेट देने इनकार कर दिया जिन्‍होंने पिछले माह दिल्‍ली में आयोजित तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शिरकत की थी।

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में जब ममता से यह सवाल पूछा गया कि क्‍या जमात के कार्यक्रम में भाग लेने वाले राज्‍य के लोगों को ट्रेस किया गया है। ये सवाल सुनकर सीएम ममता बनर्जी गुस्से से आगबबूला हो गयीं और गुस्साकर बोलीं की ऐसे कम्‍युनल सवाल मत पूछिए।

गौरतलब है कि निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात का यह कार्यक्रम कोरोना वायरस के खतरनाक संक्रमण को फैलाने के लिहाज से ‘हॉप स्‍पॉट’ साबित हुआ था। कार्यक्रम खत्‍म होने बाद इसमें भाग लेने वाले जमाती अपने-अपने राज्‍य पहुंचे थे और इससे कोरोना वायरस का संक्रमण ज्यादा फैला था। इसके बावजूद ममता बनर्जी इन जमातियों को बचा रही हैं।

Sponsored Articles
loading...