अन्न-जल त्यागकर अनशन पर बैठे परमहंसदास, बोले- संतों के हत्यारों को नहीं हुई फांसी तो प्राण त्याग दूंगा

महाराष्ट्र के पालघर में दो हिन्दू संतों की मॉब लिंचिंग की घटना को लेकर गुस्से की आग यूपी तक पहुंच गई है। मॉब लिंचिंग में मारे गए महाराष्ट्र के पालघर के कासा इलाके में गुरुवार की रात जूना अखाड़े के दो साधुओं समेत तीन लोगों की हत्या को लेकर अयोध्या के संत-धर्माचार्य गुस्से में है।

सभी ने पीएम नरेंद्र मोदी से दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की है। दूसरी तरफ तपस्वी छावनी के पुजारी महंत परमहंस दास कार्रवाई की मांग को लेकर अन्न-जल त्यागकर मंदिर परिसर में धरने पर बैठ गए हैं।

महंत परमहंस दास ने कहा की, मैं अन्न-जल त्यागकर अनशन पर बैठ गया हूँ, जबतक हिन्दू संतों के हत्यारों को फांसी नहीं हो जाती तबतक ये अनिश्चितकालीन अनशन चलता रहेगा। परमहंस दास ने कहा की, अगर संतों के हत्यारों को फांसी नहीं हुई तो प्राण त्याग दूंगा।

गौरतलब है कि, 16 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर के गढ़चिंचिले गाँव में दो हिन्दू संतों सहित 1 ड्राइवर की पुलिस के सामनें पीट-पीटकर ह्त्या कर दी गई। संतों की ह्त्या पर पूरे देश में आक्रोश है। इस मामलें में पुलिस ने 110 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।