निज़ामुद्दीन मरकज के समर्थन में उतरा JNU का टुकड़े-टुकड़े गैंग, मौलाना की FIR रद्द करने की मांग

नई दिल्ली, 1 अप्रैल: दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ( JNU ) एक बार फिर सुर्ख़ियों में है, जी हाँ? JNU का टुकड़े-टुकड़े गैंग अब निजामुद्दीन मरकज और तबलीगी जमात के समर्थन में उतर गया है। JNU वालों ने निजामुद्दीन मरकज और तबलीगी जमात के समर्थन में पोस्टर लगाए हैं।

जानकारी के अनुसार, JNU के स्टूडेंट यूनियन ने तब्लीगी जमात और निजामुद्दीन मरकज के समर्थन में पोस्टर लगाए हैं। इनकी मांग है की मौलाना साद के ऊपर जो एफआईआर दर्ज की गई है उसको तत्काल रद्द किया जाय और किसी भी मौलवी या मौलाना पर कोई कार्यवाही न की जाय।

बता दें कि – राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन में 1 से 15 मार्च के बीच तब्लीगी जमात का जलसा था। इस दौरान ना सिर्फ भारत बल्कि दुनियाभर से मौलाना लोग यहां जुटे थे। काफी लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में गए जबकि करीब एक हजार लोग यहीं रह गए। रविवार को मरकज में रह रहे लोगों में कोरोना के लक्षण देखे गए, इसके बाद सोमवार को दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने एक हजार ये ज्यादा लोगों को यहां निकाला। 334 को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है और 700 को क्वारंटाइन केंद्र भेजा गया है। इनमें 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा अन्य लोगों को आइसोलेट किया गया है। वहीँ मौलाना साद के ऊपर दिल्ली पोलिस ने एफआईआर दर्ज की है।