अमीरजादे को पुलिस ने दी लॉकडाउन तोड़ने की सजा, फरारी से उतरवाकर चौराहे पर कराया उठक-बैठक

इंदौर, 26 अप्रैल: मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में कोरोना वायरस तेजी से अपना पैर पसार रहा है। ऐसे में इंदौर पुलिस शहर में लोगों से सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवा रही है। इस क्रम में लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने पर पुलिस ने एक लड़के से उठक-बैठक लगवाई। एक लड़का लाखों की गाड़ी लेकर सड़क पर सैर करने निकला था, इसी दौरान पुलिस ने युवक को पकड़कर लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर उठक-बैठक लगवाई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, पुलिस ने जिस लड़के को पकड़ा, वो आशा कन्फेक्शनरी (चॉकलेट) कंपनी के मालिक दीपक दरियानी का बेटा है और उसका नाम संस्कार है। लेकिन संस्कार का जरा भी पालन नहीं किया।

युवक 85 लाख कीमत की फरारी कार लेकर सुखलिया स्थित एमआर 10 पर सैर करने निकला था, इस दौरान उसने ना तो चेहर पर मास्क लगाया था और ना ही उसकी कार में सैनिटाइजर था। इसके इलावा युवक के पास लॉकडाउन पास भी नहीं था। फिर भी वो कार लेकर रास्ते पर निकल पड़ा।

पुलिस ने फिर जब युवक को रोककर मास्क और लॉकडाउन के बारे में पूछा तो वह उल्टा ही पुलिस से बहस करने लगा। जिसके बाद पुलिस ने उसके सड़क पर ही खुलेआम सजा देने का फैसला किया और उससे वहीं बीच चौराहे पर उठक-बैठक लगवाई। इतना ही नहीं पुलिस ने युवक से नारा लगवाया कि वह समाज का दुश्मन है। बता दें कि, इंदौर में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1,176 तक पहुंच चुका है। जबकि अब तक कुल 57 लोगों की जान जा चुकी है।

loading...