हरियाणा के छुपे हुए जमातियों पर दर्ज होगा धारा 307 का मुक़दमा

haryana-home-minister-anil-vij-order-ipc-307-fir-jamati-markaj

फरीदाबाद, 9 अप्रैल: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने ऐलान किया है कि अगर छुपे हुए जमाती अपने आप बाहर निकलकर नहीं आये तो उनके खिलाफ हत्या के प्रयास का यानी धारा 307 का मुक़दमा दर्ज किया जाएगा।

गृह मंत्री अनिल विज ने 8 अप्रैल शाम तक का अल्टीमेटम दिया था जिसके बाद 24 घंटे के अंदर ही 31 जामती निकलकर बाहर आये, इसके साथ ही हरियाणा में अब जमातियों की संख्या बढ़कर 1557 हो गयी है, अन्य छुपे हुए जमातियों की तलाश में पुलिस जुट गयी है.

कैसे दर्ज होगा 307 का मुकदमा

अगर जमाती अपने आप बाहर आ जाते तो सरकार खुद उनका टेस्ट करवाती, अब अगर कोई जमाती अपने आप बाहर नहीं आया और पुलिस ने उसे तलाश करके बाहर निकाला, उसके बाद जमातियों का टेस्ट कराया जाएगा, अगर कोई जमाती संक्रमित पाया गया तो उसके खिलाफ धारा 307 (हत्या के प्रयास) के तहत मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि निजामुद्दीन मरकज में हरियाणा से गए 1557 जमातियों की पहचान कर ली गयी है, इनमें से नूह के 696, यमुनानगर में 242, फरीदाबाद में 158, पलवल में 88, सोनीपत में 32, गुरुग्राम में 33, पंचकूला में 117, पानीपत में 94, अम्बाला में 45, कुरुक्षेत्र में 7, सिरसा में 19, फतेहाबाद में 11, कैथल में 8, करनाल में 1, जींद में 8 व् चरखी दादरी में 17 हैं.