शांतिदूतों ने फिर किया दुस्साहस, लॉकडाउन तोड़कर पुलिस पर किया कातिलाना हमला

ओडिशा, 5 अप्रैल: देश-दुनिया में मचे कोरोना कहर के बीच भारत में कुछ लोग मुस्लिम समाज को हद से ज्यादा बदनाम करवा रहे हैं। ये कहीं डाक्टरों पर हमले कर रहे हैं तो कहीं पुलिस को लहूलुहान कर रहे हैं जबकि ऐसे समय में डाक्टर और पुलिस देश की जनता को कोरोना महामारी से बचाने में अपना सौ फीसदी योगदान दे रहे हैं।

इसी समाज के कुछ लोगों की गलती देश पर भारी पड़ गई और 200 से ज्यादा जिलों में कोरोना फ़ैल गया। कई शहरों में अधिकतर कोरोना के मरीज तब्लीगी जमात में शामिल पाए जा रहे हैं। इस समाज के कुछ लोग अब भी लॉकडाउन की धज्जियां उडा रहे हैं जबकि समाज के कुछ लोग इनसे अपील भी कर रहे हैं कि सरकार के आदेश को मानें।

ताजा जानकारी के मुताबिक़ मुस्लिम समाज के लोगों ने ओडिशा में पुलिस पर जमकर पत्थर बरसाए। कटक में पुलिस गश्त कर रही थी और लोगों से लॉकडाउन न तोड़ घरों में रहने को कहा जा रहा था। इसी दौरान मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने पुलिस पर पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। कटक के डीसीपी अखिलेश्वर सिंह का कहना है कि मामला दर्ज कर लिया गया है। जल्द ऐसे लोगो को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गौरतलब है की इससे पहले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इंदौर में डॉक्टरों पर हमला किया था, यूपी के कई जिलों में पुलिस पर हमला किया था, दर्जनों पुलिसकर्मीं अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।