कोरोना के खिलाफ दिया जलाने से पहले इस बात का ध्यान रखें वरना मोदीजी को दोष देंगे आप, पढ़ें

anti-corona-deepak-dont-use-sanitizer-5-april

फरीदाबाद, 4 अप्रैल: कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए कुछ लोग बहुत अधिक सावधानी बरत रहे हैं, कुछ लोग तो कई बार हाथों को सैनिटाइजर से सैनिटाइज करते रहते हैं. हमें यह भी पता है कि प्रधानमंत्री मोदी का कहना लोग बहुत मानते हैं इसलिए 5 अप्रैल को रात 9 बजे लोग दिया भी जरूर जलाएंगे और कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में अपनी एकजुटता दिखाएंगे।

कल दिया जलाते वक्त इस बात का ध्यान जरूर रखें, अपने हाथों में सैनिटाइजर लगाने के बाद दिया ना लगाएं या अगर सैनिटाइजर लगा हो तो पहले अपने हाथों को साबुन से धोकर सूखा लें और उसके बाद दिया जलाएं।

बात दरअसल ये है कि सैनिटाइजर में अल्कोहल मिला होता है जो ज्वलनशील पदार्थ में आता है, हाथों में सैनिटाइजर लगा होने की वजह से आपका हाथ जल सकता है, अगर ऐसा हुआ तो आप गुस्से में मोदीजी को दोष देंगे।

बता दें कि मोदीजी ने कोरोना के खिलाफ जंग में सभी देशवासियों का साथ चाहते हैं, मोदी चाहते हैं कि देशवासी एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ें, इसीलिए उन्होंने 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट तक घर की सभी लाइटें बंद करके सिर्फ दिया जलाने की अपील की है, विकल्प में मोबाइल टोर्च, मोमबत्ती, मिटटी का दिया या टोर्च शामिल हैं. आप इनमें से कुछ भी इस्तेमाल कर सकते हैं. मोबाइल टोर्च जलाने पर आपको सैनिटाइजर से कोई खतरा नहीं है.