कोरोना: सपा नेता ने किया ‘जनता कर्फ्यू’ का विरोध, कहा- ये तानाशाही का कर्फ्यू है

लखनऊ, 22 मार्च: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर आज पूरा देश ‘जनता कर्फ्यू’ का पालन कर रहा है। इस दौरान लोग सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक अपने घरों में ही रहेंगे। सभी सरकारी परिवहन सेवाओं को आज के लिए बंद कर दिया गया है।

देश के कोनें-कोनें से जनता कर्फ्यू की तस्वीरें आ रही हैं, लेकिन समाजवादी पार्टी के आईपी सिंह ने जनता कर्फ्यू का विरोध करते हुए इसे तानाशाही का कर्फ्यू बताया है।

https://twitter.com/IPSinghSp/status/1241579379206918149?s=20

सपा नेता आईपी सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा- जनता का कर्फ्यू नही, तानाशाही का कर्फ्यू है, बीजेपी की सत्ता का कर्फ्यू है, यूपी में योगी आदित्यनाथ के खाकी वर्दी का कर्फ्यू है, बेरोजगारी, भुखमरी का ध्यान भटकाने का कर्फ्यू है, कागजों पर विकास करने वालों का कर्फ्यू है, नोटबन्दी जैसा कर्फ्यू है। नाम दिया गया है कि जनता का कर्फ्यू है।

बता दें कि – प्रधानमंत्री मोदी ने बीते शुक्रवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लोगों से ‘जनता कर्फ्यू’ का पालन करते हुए घरों की बालकनी, बरामदे और छतों पर आकर ‘थाली पीटने’ की बात कही थी। इसका मकसद उन सभी डॉक्टरों, नर्सों और अन्य मेडिकल स्टाफ का हौसला अफजाई करना है, जो कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे हैं।