पढ़ें, बच्चे की जनता कर्फ्यू की यह फोटो देखकर क्या बोले PM मोदी

pm-narendra-modi-reaction-children-photo-janta-curfew

फरीदाबाद, 22 मार्च: कोरोना वायरस का कम्मूनिटी ट्रांसमिशन रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी जिसका जनता ने समर्थन किया है और पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगाया गया है, लोग अपने घरों में बैठे हैं और परिवार के साथ समय बिता रहे हैं.

प्रधानमंत्री मोदी भी पूरे देश पर नजर रख रहे हैं, एक बच्चे ने खुद को जालीदार पिजरे में बंद किया है, मोदी ने यह फोटो देखकर कहा – जनता कर्फ्यू का समर्थन करने के लिए बच्चे भी नया नया तरीका अपना रहे हैं.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए आज पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगाया गया है जिसका पूरे देश में समर्थन किया जा रहा है, फरीदाबाद की पब्लिक भी जनता कर्फ्यू का भारी समर्थन कर रही है, लोग अपने घरों में रहकर अपने परिवार की देखभाल कर रहे हैं.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की सम्पूर्ण जनता से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का आग्रह किया था जिसका जनता ने समर्थन किया है और आज जनता ने खुद ही जनता कर्फ्यू लगा दिया है.

आपको बता दें कि सिर्फ एक दिन जनता कर्फ्यू लगाने से काम नहीं चलेगा, कम से कम अगले 10 दिनों तक इसी प्रकार से पब्लिक को जनता कर्फ्यू लगाना पड़ेगा और सरकार का सहयोग करना पड़ेगा, सरकार ने जान बूझकर अभी 10 दिन तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील नहीं की है क्योंकि ऐसा कहने पर पैनिक क्रिएट हो जाता लेकिन जनता को खुद ही सरकार की मंशा समझ जानी चाहिए क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी ने जनता से कुछ हप्ते मांगे हैं. फरीदाबाद में 31 मार्च तक लॉक डाउन किया गया है जिसका जनता को भी समर्थन करना चाहिए, इस दौरान जनता को राशन, पानी, दवाइयाँ और हर जरूरी सुविधाएं मिलती रहेंगी, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है, बस सावधान रहकर, अपने घरों में रहकर अपना और अपने परिवार का ध्यान रखने की जरूरत है.

कोरोना वायरस कई स्टेज में काम करता है, सबसे खतरनाक स्टेज कम्युनिटी ट्रांसमिशन का होता है जिसमें कोरोना वायरस एक आदमी से दूसरे आदमी में तेजी से फैलता है. भारत में अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू नहीं हुआ है लेकिन अगर जनता ने लापरवाही दिखाई और लोग बाहर घुमते रहे और अनजान लोगों ने हाथ या गले मिलते रहे तो अगले दो तीन दिनों में कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो सकता है.

अगर भारत की बात करें तो अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू नहीं हुआ है, अभी विदेश से आये व्यक्तियों ने अपने परिवार और रिश्तेदारों को संक्रमित किया है. भारत ऐसे लोगों की पहचान कर रहा है जो संक्रमित हैं और अपने परिवार और रिश्तेदारों को संक्रमित कर चुके हैं, विदेश से आये लोगों के परिवार और राश्तेदारों को भी आइसोलेशन में रखा जा रहा है. अगर सभी व्यक्तियों की पहचान हो गयी और विदेश से आने वालों पर रोक लगा दी गयी तो कोरोना संक्रमण रुक जाएगा वरना यहाँ भी कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो जाएगा, उसके बाद संक्रमित लोगों की मेड, दूध वाले, सफाई वाले अन्य लोगों में इन्फेक्शन फैलाएंगे और इसी प्रकार से कोरोना वायरस फैलता जाएगा, इसीलिए बेहतर यही है कि विदेश से आये लोगों से और उनके परिवार एवं रिश्तेदारों से अगले कुछ हप्तों तक किसी भी प्रकार का संपर्क ना बनाया जाय, ऐसे लोगों की मेड और घर में काम करने वालों से भी कोई संपर्क ना बनाया जाय.

अगर भारत में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज शुरू हो गया तो भीड़ भाड़ वाले भारत का बुरा हाल होगा इसलिए जनता को सावधान रहना होगा और अगले कुछ दिनों तक घर में ही रहना होगा, भारत सरकार अभी सिर्फ एक दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगवा रही है लेकिन हमें अगले 15 – 20 दिनों तक जनता कर्फ्यू लगाने की जरूरत है, भीड़ भाड़ वाले स्थानों से दूरी बनाकर रखने की जरूरत है.