खुलेआम बोला जामिया का प्रोफेसर अबरार अहमद, CAA समर्थक 15 गैरमुस्लिमों को मैनें फेल कर दिया

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 26 मार्च: राजधानी दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिक के असिस्टेंस प्रोफेसर अबरार अहमद ने दावा किया है की उसने 15 गैरमुस्लिम छात्रों को फेल कर दिया है। अबरार के इस दावे के बाद जामिया में पढ़ने वाले हिन्दू छात्रों में हड़कंप मच गया है।

जामिया के प्रोफ़ेसर अबरार अहमद ने ट्वीट कर बताया की मैनें जो 15 गैरमुस्लिम छात्रों को फेल किया है वो या तो नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के समर्थक हैं या CAA विरोधियों का विरोध करने वाले हैं।

एक तरफ शिक्षकों से उम्मीद की जाती है कि वो बिना किसी भेदभाव के छात्रों को पढ़ाएँ और उन्हें एक अच्छा नागरिक बनाएँ, लेकिन प्रोफेसर अबरार अहमद ने जता दिया है की वो सबसे पहले मजहब प्रेमी है उसके बाद शिक्षक है। अबरार लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से सीएए समर्थक छात्रों को धमकी देने में लगा हुआ है। उसने ऐलान किया है कि परीक्षा में 15 सीएए समर्थक छात्रों को छोड़ कर बाकी सभी छात्र पास हैं। उसने सीएए के विरोध में उसके 55 छात्र होने का दावा किया।