बड़ा सवाल, क्या भूखों मर रहा पाकिस्तान, इसलिए पाकिस्तानी चाहते हैं भारत की नागरिकता या..?

LIKE फेसबुक पेज
why-pakistani-muslim-want-india-citizenship-news

नई दिल्ली: इस समय देशवासियों के मन में एक बड़ा सवाल है कि पाकिस्तान के मुस्लिम अपना देश छोड़कर हिंदुस्तान में घुसपैठ क्यों कर रहे हैं, क्या पाकिस्तानी भूखों मर रहे हैं इसलिए भारत की नागरिकता चाहते हैं, आखिर CAA का विरोध करने की वजह क्या है। अगर हिन्दुओं या अन्य पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों की बात करें तो उनके साथ धार्मिक आधार पर भेदभाव होता है और उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराया जाता है इसलिए ये लोग पाकिस्तान से पलायन करके भारत आते हैं।

आपको बता दें कि पाकिस्तानी, बांग्लादेशी और अफगानिस्तानी मुस्लिम घुसपैठियों को भारत की नागरिकता ना दिए जाने के लिए भारत सरकार ने CAA लागू किया है क्योंकि तीनों ही देश इस्लामिक स्टेट हैं और वहां पर मुस्लिमों के साथ धर्म के आधार पर उत्पीड़न नहीं होता वहीं तीनों देशों में अल्पसंख्यक हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई अन्य के साथ धार्मिक आधार पर उत्पीड़न होने की ख़बरें आती रहती हैं इसलिए 2014 से पहले हिंदुस्तान में आये इन लोगों को नागरिकता देने का फैसला किया गया है. केंद्र सरकार ने तर्क दिया है कि आजादी के बाद धर्म के आधार पर देश का बँटवारा हुआ था, उस समय महात्मा गाँधी ने कहा था कि जो भी हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई पाकिस्तान में छूट गए हैं वह कभी भी भारत आ सकते हैं. आज उसी कानून को लागू किया गया है.

हिंदुस्तान में कुछ मुस्लिम केंद्र सरकार के इस कानून का विरोध कर रहे हैं. इन्हें लगता है कि इस कानून में मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया गया है जबकि केंद्र सरकार का कहना है कि भारत के किसी भी मुस्लिम का इस कानून से कोई लेना देना नहीं है, यह नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता छीनने का नहीं। भारत में रह रहे मुस्लिमों द्वारा CAA का विरोध किये जाने से यह सवाल उठ रहा है कि ये लोग पाकिस्तानी, बांग्लादेशी और अफगानी मुस्लिमों को भारत की नागरिकता क्यों दिलाना चाहते हैं। कुछ लोग कह रहे हैं कि यह सब भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने के लिए किया जा रहा है।