केजरीवाल के जीतते ही खाली हुआ शाहीन बाग, सभी धरनेबाज गए अपने-अपने घर

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 11 फ़रवरी: दिल्ली विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा आकर्षण का केंद्र शाहीन बाग़ रहा है। जहाँ मुस्लिम समुदाय के लोगों ने लगभग 2 महीनें तक लगातार सड़क जामकर नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) का विरोध किया। आम आदमी पार्टी ने शाहीन बाग़ वालों को खुला समर्थन दिया था।

मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आये, नतीजों में आम आदमी पार्टी ने दोबारा सत्ता में वापसी करते हुए प्रचंड जीत हासिल की। 70 में से 63 सीटों पर आप उम्मीदवार जीते, सात सीटों पर भाजपा की जीत हुई जबकि कांग्रेस का खाता नहीं खुल सका।

आम आदमी पार्टी की जीतने के बाद ही शाहीन बाग़ खाली हो गया। रुझानों में जैसे-जैसे आप की सीटें बढ़ रही थी, वैसे-वैसे शाहीन बाग़ खाली हो रहा था। अंत में जब लगभग फाइनल नतीजे आये तो शाहीन बाग़ पूरी तरह खाली हो गया। अब सिर्फ इक्के-दुक्के लोग बैठे हैं।

केजरीवाल की जीत के बाद अचानक शाहीन के खाली हो जाने से ऐसी अटकलें लगाई जा रही है की ये नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध की आड़ में मुस्लिमों का वोट एकजुट करने में लगे थे और कामयाब भी हुए। कांग्रेस का सारा वोट आम आदमी पार्टी में कन्वर्ट हो गया। खासकर मुस्लिम समुदाय का।