शीला दीक्षित के बेटे ने कहा- अहंकार से हारी कांग्रेस, सभी ने मिलकर कर खोदी पार्टी की कब्र

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 12 फ़रवरी: दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए हैं। आम आदमी पार्टी की सरकार ने एक बार फिर प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी की है। हालांकि कांग्रेस के लिए यह चुनाव भी बुरा स्वप्न साबित हुआ और कांग्रेस दिल्ली में अपना खाता भी नहीं खोल सकी। 2015 के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस पार्टी एक भी सीट नहीं जीत पायी थी।

दिल्ली में 15 साल तक सत्ता पर काबिज रहीं शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित से जब कांग्रेस पार्टी के खराब प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने अहंकार से हारी और सभी ने मिलकर पार्टी की कब्र खोदी।

एक न्यूज़ चैनल के साथ बातचीत में संदीप दीक्षित ने कहा कि हमारा मामला बहुत पहले से गड़बड़ था। पिछले 5-6 साल के बाद सभी लोगों ने मिलकर कांग्रेस की कब्र खोदी थी। शीला दीक्षित के बाद कोई नेतृत्व उभर नहीं पाया। संदीप दीक्षित ने कहा कि ‘केजरीवाल हर चीज को सस्ता करने के मामले में लोगों से जुड़ रहे थे। भाजपा धर्म के नाम पर लोगों से जुड़ रही थी। हम तो अहंकार के मामले में लोगों से जुड़ रहे थे, तो उससे लोग जुड़ते नहीं हैं। इसलिए पार्टी का खाता नहीं खुला।

बता दें की दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों पर हुई मतगणना में आम आदमी पार्टी ने 62 सीटें हासिल की, भाजपा ने 8 सीटें हासिल की, जबकि कांग्रेस का खाता तक नहीं खुल सका। यहाँ तक की कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गयी।