सुषमा स्वराज भवन के नाम से जाना जाएगा प्रवासी भारतीय केंद्र, मोदी सरकार का बड़ा फैसला

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 13 फ़रवरी: भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री स्व. सुषमा स्वराज का 14 फरवरी को जन्मदिन ( जयंती ) है। इस मौके पर विदेश मंत्रालय ने प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम बदलकर सुषमा स्वराज भवन और विदेश सेवा संस्थान का नाम बदलकर सुषमा स्वराज इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेन सर्विस करने का फैसला किया है।

भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अमूल्य योगदान के लिए विदेश मंत्रालय ने 14 फरवरी को उनकी जयंती की पूर्व संध्या पर इसकी घोषणा की है। इससे पहले पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को गणतंत्र दिवस के मौके पर पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।

बता दें की सुषमा स्‍वराज का छह अगस्‍त 2019 को 67 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था। रात को घर पर उन्‍हें दिल का दौरा पड़ा फिर उन्‍हें दिल्ली के ही एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्‍होंने इस दुनिया का अलविदा कहा।