दुश्मनों के बीच से जिन्दा आया भारत का लाल, वतन में छिपे गद्दारों के हाथों मारे गए श्री रतनलाल

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 25 फरवरी: नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में राजधानी दिल्ली में सोमवार को हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस के जवान रतनलाल की जान चली गई। रतनलाल के परिवार में उनके अलावा पत्नी और तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं।

शहीद दिल्ली पुलिस के जवान रतनलाल की तस्वीर सामने आने के बाद लोगों को विंग कमांडर अभिनन्दन याद आने लगे। जी हाँ, भारतीय वायुसेना के वही जांबाज विंग कमांडर अभिनदंन जो दुश्मनों ( पाकिस्तान ) के बीच से जिन्दा लौट आये थे।

मालूम हो की विंग कमांडर अभिनन्दन ने भारतीय लड़ाकू विमान मिग-21 से पाकिस्तानी लड़ाकू विमान अमेरिका से निर्मित F-16 के चीथड़े उड़ा दिए। हालाँकि वो पाकिस्तान में जा गिरे, इसके बाद पाकिस्तान की कुख्यात ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अभिनन्दन को कैद कर लिया। लेकिन मोदी सरकार की जबरदस्त कूटनीति के कारण पाकिस्तान को अभिन्दन को सही सलामत रिहा करना पड़ा।

इस तरह से भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनन्दन दुश्मनों के बीच से लौट आये। लेकिन दिल्ली पुलिस के जवान रतनलाल अपने ही देश में छुपे गद्दारों का शिकार बन गए। CAA विरोधियों ने कॉन्स्टेबल रतनलाल को सोमवार को मौत के घाट उतार दिया।

रतन लाल की मौत की सूचना मिलते ही उनकी पत्नी बेहोश हो गई। छोटे बच्चों को सँभालने वाला कोई नहीं था। आस पास के लोगों ने बच्चों को संभाला। बच्चे भी विलख-विलख कर रो रहे हैं।