पुलवामा हमलें के लिए 350 किलो RDX वहीं से आया, जहाँ से शाहीन बाग़ की बिरयानी के पैसे आ रहे हैं

नई दिल्ली, 14 फ़रवरी: पिछले साल आज ही के दिन पुलवामा में आत्मघाती हमला हुआ था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, पूरा देश आज शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहा है, दुखी है, लेकिन राहुल गाँधी जैसे नेता आज ही के दिन पूछ रहे हैं की पुलवामा हमले से सबसे ज्यादा फायदा किसको हुआ! यही नहीं? कुछ तथाकथित पूछ रहे हैं की पुलवामा में 350 आरडीएक्स कहाँ से आये? ऐसे तथाकथित लोगों को मेजर पुनिया ने करारा जवाब देते हुए कहा की पुलवामा में आतंकी हमले के लिए 350 किलो आरडीएक्स वहीँ से आया जहाँ से शाहीन बाग़ के लिए बिरयानी के पैसे आ रहे हैं।

मेजर सुरेंद्र पुनिया ने ट्वीट कर कहा की, जो पूछ रहे हैं कि पुलवामा मे 350 Kg RDX कहाँ से आया और कौन लाया?
तो मैं कहना चाहता हूँ की, यह वहीं से आया जहाँ से “अफ़ज़ल हम शर्मिंदा हैं “ कहने वाले आये..जहाँ से तौहीन बाग़ की बिरयानी के पैसे आ रहे हैं! मेजर ने कहा, पुलवामा में आरडीएक्स ( विस्फोटक पदार्थ ) लाने वाले कोई और नहीं बल्कि असम को काटने वाले व भारत तेरे टुकड़े होंगे गैंग के ही लोग हैं! कोई शक?

मालूम हो की 14 फ़रवरी को पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी एक गाड़ी को सीआरपीएफ़ की एक बस से टकरा दिया था। यह विस्फोट इतना ज़ोरदार था कि सीआरपीएफ़ बस के टुकड़े-टुकड़े हो गए थे। यह बस सीआरपीएफ़ की 54वीं बटालियन की थी। पुलवामा के रहने वाले आतंकवादी आदिल अहमद डार ने इस घटना को अंजाम दिया था। सीआरपीएफ़ जवानों के काफ़िले में 70 बसें थीं। जवानों का यह काफ़िला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था। काफ़िले में लगभग 2500 जवान थे। जिसमें से 40 जवान शहीद हो गए थे।

loading...