काशी महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव भी करेंगें सफर, एक सीट हमेशा रहेगी रिजर्व, भड़के ओवैसी

LIKE फेसबुक पेज

वाराणसी, 17 फ़रवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को काशी महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई, यह एक्सप्रेस ट्रेन वाराणसी से इंदौर तक जायेगी। महाकाल एक्सप्रेस यात्रियों को आध्यात्मिक अहसास भी कराएगी।

वैसे तो इस ट्रेन में कई खासियतें हैं लेकिन आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि इसमें एक सीट भगवान शंकर के लिए भी रिजर्व की गई है. इस सीट पर भोलेनाथ का एक छोटा मंदिर स्थापित कर दिया गया है। महाकाल एक्सप्रेस की बोगी नंबर बी-5 में सीट नंबर 64 भगवान महाकाल(शिव) के लिए आरक्षित रहेगी।

काशी महाकाल एक्सप्रेस में भगवान भोलेनाथ के लिए एक सीट आरक्षित किये जाने के बाद असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए हैं। दूसरे शब्दों में कहा जाय तो खिसिया गए हैं।

AIMIM प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए भारत के संविधान की प्रस्तावना को ट्वीट किया। ओवैसी ने यह ट्वीट काशी महाकाल एक्सप्रेस की एक सीट को मंदिर का रूप दे दिए जाने के बाद किया। मंदिर में भगवान शिव की मूर्ति लगाई गई है. इसके बाद बर्थ में भगवान शिव की पूजा भी की गई। ओवैसी के अनुसार, ट्रेन भोलेनाथ के लिए सीट रिजर्व करना उचित नहीं है।