J&K: सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वाले युसूफ पर UAPA के तहत कार्रवाई, जाने क्या है UAPA

LIKE फेसबुक पेज

जम्मू कश्मीर, 18 फ़रवरी: सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने पर कश्मीरी पत्रकार कामरान युसूफ पर UAPA के तहत कार्यवाही हुई है।

गौरतलब है की जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद से कई तरह के प्रतिबंध लगे हुए हैं। अभी इंटरनेट की सुविधाएं पूरी तरह से शुरू नहीं की गई हैं, इस बीच जम्मू कश्मीर प्रसाशन ने सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वालों पर एक्शन लिया है। श्रीनगर के साइबर पुलिस स्टेशन ने सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वालों पर UAPA कानून के तहत कार्रवाई की है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस का कहना है कि कश्मीर के मौजूदा हालात को देखते हुए सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, जिसपर एक्शन लिया गया और एफआईआर दर्ज की गई। इन पोस्ट में किसी विचारधारा को प्रमोट करना, आतंकियों की तारीफ करना जैसे पोस्ट को सीज़ किया गया है। कामरान युसूफ का नाम इससे पहले 2017 के टेरर फंडिंग केस में भी आ चुका है।

क्या है UAPA

बता दें की हाल ही में भारतीय संसद में UAPA कानून पास हुआ. यूएपीए के तहत केंद्र सरकार किसी भी संगठन को आतंकी संगठन घोषित कर सकती है अगर निम्न 4 में से किसी एक में उसे शामिल पाया जाता है.

1. आतंक से जुड़े किसी भी मामले में उसकी सहभागिता या किसी तरह का कोई कमिटमेंट पाया जाता है.
2. आतंकवाद की तैयारी
3. आतंकवाद को बढ़ावा देना
4. आतंकी गतिविधियों में किसी अन्य तरह की संलिप्तता

इसके अलावा इसके अलावा UAPA कानून सरकार को यह अधिकार भी देता है कि इसके आधार पर किसी को भी व्यक्तिगत तौर पर आतंकवादी घोषित कर सकती है।