देश को तोड़ने की साजिश है शाहीन बाग़, AAP-कांग्रेस का जॉइंट वेंचर, इसे समझना जरूरी: अनिल विज

LIKE फेसबुक पेज
haryana-home-minister-anil-vij-exposed-aap-congress-shaheen-bagh

फरीदाबाद, 4 फ़रवरी: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज  ने शाहीन बाग़ प्रदर्शन पर बड़ा बयान दिया है, उन्होंने ट्विटर पर लिखा – 1947 में देश का विभाजन करने वाली मानसिकता आज भी जिंदा है वह कभी शाहीन बाग, कभी जामिया मिलिया और कभी टुकड़े टुकड़े गैंग के रूप में सामने आ रही । देश को एक रखने के लिए इसको समझना बहुत जरूरी है।

अनिल विज ने एक और ट्वीट में लिखा – 1947 में देश का विभाजन करने वाली मानसिकता आज भी जिंदा है वह कभी शाहीन बाग, कभी जामिया मिलिया और कभी टुकड़े टुकड़े गैंग के रूप में सामने आ रही । देश को एक रखने के लिए इसको समझना बहुत जरूरी है । शाहीन बाग, जामिया मिलिया टुकड़े टुकड़े गैंग कांग्रेस और आप पार्टी का जॉइंट वेंचर है।

आपको बता दें – पाकिस्तानी, बांग्लादेशी और अफगानिस्तानी मुस्लिम घुसपैठियों को भारत की नागरिकता ना दिए जाने के लिए भारत सरकार ने CAA लागू किया है क्योंकि तीनों ही देश इस्लामिक स्टेट हैं और वहां पर मुस्लिमों के साथ धर्म के आधार पर उत्पीड़न नहीं होता वहीं तीनों देशों में अल्पसंख्यक हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई अन्य के साथ धार्मिक आधार पर उत्पीड़न होने की ख़बरें आती रहती हैं इसलिए 2014 से पहले हिंदुस्तान में आये इन लोगों को नागरिकता देने का फैसला किया गया है. केंद्र सरकार ने तर्क दिया है कि आजादी के बाद धर्म के आधार पर देश का बँटवारा हुआ था, उस समय महात्मा गाँधी ने कहा था कि जो भी हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई पाकिस्तान में छूट गए हैं वह कभी भी भारत आ सकते हैं. आज उसी कानून को लागू किया गया है.

हिंदुस्तान में कुछ मुस्लिम केंद्र सरकार के इस कानून का विरोध कर रहे हैं. इन्हें लगता है कि इस कानून में मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया गया है जबकि केंद्र सरकार का कहना है कि भारत के किसी भी मुस्लिम का इस कानून से कोई लेना देना नहीं है, यह नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता छीनने का नहीं।

दिल्ली के शाहीन बाग़ में करीब डेढ़ महीनें से रोड जाम करके धरना दिया जा रहा है जिसकी  वजह से फरीदाबाद सहित दिल्ली एनसीआर के लाखों लोग परेशान हैं.