भले हार गई हो BJP लेकिन केजरीवाल को मंदिर जाने पर किया मजबूर, जिहादियों से भी उठवाया तिरंगा

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 11 फ़रवरी: दिल्ली विधानसभा चुनाव भारतीय जनता पार्टी हार ग़ई है और केजरीवाल की आम आदमी पार्टी चुनाव जीत गयी। दिल्ली चुनाव भाजपा भले ही हार गई हो लेकिन अरविन्द केजरीवाल को चुनाव से दो दिन पहले मंदिर जाने पर मजबूर कर दिया।

केजरीवाल पहले मंदिर नहीं जाते थे, उनके बारे में ऐसा भी कहा जाता है की वो नाश्तिक थे, लेकिन भाजपा ने दिल्ली चुनाव में ऐसी बिसात बिछाई की केजरीवाल को मंदिर जाना पड़ा। गौरतलब है की दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले आप मुखिया अरविन्द केजरीवाल अपनी पत्नी के साथ कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर गए थे और पूजा अर्चना की थी।

भाजपा ने केजरीवाल को न सिर्फ मंदिर भेजने पर मजबूर कर बल्कि जिहादियों को भी तिरंगा उठाने पर मजबूर कर दिया।

गौरतलब है की नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में हिस्सा लेने वाले हर जिहादी के हाथों में तिरंगा दिखाई देता था। यहाँ तक की असदुद्दीन ओवैसी भी तिरंगा उठाने को मजबूर हो गया। जो संसद में कहता था, मैं जय हिन्द और वन्दे मातरम ही बोलूंगा? इसलिए भाजपा सिर्फ चुनाव हारी है? लेकिन केजरीवाल और जिहादियों से वो करने को मजबूर कर दिया, जो वो सपने में कभी सोंचे न भी थी।

बता दें की दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। भाजपा का वोट शेयर तो बढ़ा लेकिन वो सीटों में तब्दील नहीं हो पाया, जिसकी वजह से बीजेपी को 8 सीटें मिली और आम आदमी पार्टी ने 62 सीटें हासिल की, वहीँ एक बार कांग्रेस फिर शून्य पर क्लीन बोल्ड हो गई, खाता तक नहीं खोल पायी।