चुनाव जीतने के लिए बुर्का पहन बन गई थी मुस्लिम, फिर भी अलका लाम्बा की हुई शर्मनाक हार

नई दिल्ली, 11 फ़रवरी: दिल्ली के चांदनी चौक से कांग्रेस उम्मीदवार अलका लाम्बा की शर्मनाक हार हुई है, यहाँ तक अलका लाम्बा को 2 हजार वोट भी नहीं मिले और उनकी जमानत जब्त हो गयी।

अल्का लाम्बा ने चुनाव प्रचार के दौरान बुर्का पहनकर वोट मांगे, बुर्खा पहनकर मोदी और अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी भी की इसके साथ साथ अलका लाम्बा ने लाइव बुर्का पहनकर लोगो को भी दिखाया पर फिर भी अल्का लाम्बा को मुसलमानों ने वोट नहीं दिया और अल्का लाम्बा तो पहले से ही हिन्दुओ के वोट नहीं चाहती थी।

जगह-जगह अल्का लाम्बा ने बुर्खा पहनकर मुसलमानों को खुश करने की कोशिश भी की पर कामयाब नहीं हो सकी, मुसलमानों ने बीजेपी को रोकने ले एकजुट होकर एकतरफा आम आदमी पार्टी को वोट दिया।

चुनाव हारने के बाद अलका लाम्बा ने ट्विटर पर लिखा- मैं परिणाम स्वीकार करती हूँ, पर हार नहीं, हिन्दू-मुस्लिम वोटों का पूरी तरह से ध्रुवीकरण किया गया. कॉंग्रेस पार्टी को अब नए चेहरों के साथ एक नई लड़ाई और #दिल्ली की जनता के लिए एक लंबे संघर्ष के लिए तैयार होना पड़ेगा। आज लड़ेंगे तो कल जीतेंगे भी।

Sponsored Articles
loading...