शाहीन बाग़ में 4 माह के बच्चे की मौत, मेजर पूनिया ने कहा- बच्चों को तो बख्श दो लिब्रान्डुओं

नई दिल्ली, 4 फ़रवरी: शाहीन बाग़ में मासूम बच्चे की मौत के बाद अब सोशल मीडिया पर लोग उन पर सवाल उठा रहे हैं जो धरने के आयोजक हैं। बताया जा रहा है कि चार महीने के मोहम्मद को उसकी मां रोज शाहीन बाग के प्रदर्शन में ले जाती थी। वहां प्रदर्शनकारी उसे अपनी गोद में लेकर खिलाते थे और अक्सर उसके गालों पर तिरंगे का चित्र बना दिया करते थे। लेकिन मोहम्मद की पिछले हफ्ते ठंड लगने के कारण उसकी मौत हो गई।

इस बच्चे की मौत के बाद मेजर सुरेंद्र पूनिया ने लिखा शाहीन बाग़ में 4 महीने के बच्चे की मौत हो गई क्योंकि सर्दी इतनी ज़्यादा है कि जिसमें बड़े भी कांप रहे हैं और ये कह रहे हैं कि 4 महीने का जहान CAA के लिये क़ुर्बान हो गया ! आंदोलन करो विरोध करो पर मासूमों को तो बख्श दो ये सब लिब्रांडु और धर्म के ठेकेदार इस बच्चे के कातिल हैं।

गौरतलब है की लगभग 50 दिन से शाहीन बाग़ में नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में धरना प्रदर्शन हो रहा है। जिस कानून के खिलाफ शाहीन बाग़ में प्रदर्शन हो रहा है। उसका भारतीय नागरिकों से कोई लेना-देना ही नहीं है, इसके बावजूद प्रदर्शनकारी मानने को तैयार ही नहीं है।