AAP को मान गए केजरीवाल, 700 करोड़ में टिकट बेचकर कर लिया जिंदगी भर मौज करने का जुगाड़, गजब चालाकी

LIKE फेसबुक पेज
why-arvind-kejriwal-and-manish-sisodia-selling-ticket-aap

नई दिल्ली: राजनीती एक कीचड है, यहाँ कितने भी ईमानदार लोग आएं, कीचड में खुद को सान ही बैठते हैं, राजनीति में उतरने से पहले अरविन्द केजरीवाल भी खुद को बड़ा ईमानदार बताते थे लेकिन अब वे भी कीचड में बुरी तरह से सन गए हैं, पैसा चीज ही ऐसी है, हर कोई बेईमान हो जाता है। अरविन्द केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पर आप पार्टी के ही विधायक नारायण दत्त शर्मा ने 10-20 करोड़ रुपये में टिकट बेचने का आरोप लगाया है।

नारायण दत्त शर्मा ने 14 जनवरी को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा किया की टिकट के लिए उनसे 10 करोड़ रुपये मांगे गए। उन्हने दिल्ली के शिक्षा मंत्री और ओखला के विद्यायक पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सभी Seeting MLA से करोड़ों रूपये की मांग की जा रही और उन पर ना होने पर उनकी टिकट काटने की धमकी दी जा रही है. विधायक नारायण दत्त शर्मा ने आरोप लगाया कि बदरपुर से पूर्व कांग्रेस के उमीददवार राम सिंह नेता जी ने 22 करोड़ देकर यह टिकट खरीदी है.

अगर आप विधायक नारायण दत्त शर्मा की बात को गौर करें तो केजरीवाल और मनीष सिसोदिया हर सिटिंग MLA से 10-20 करोड़ रुपये मांग रहे हैं, अगर कोई देने में असमर्थ है तो इतने में ही किसी और को टिकट बेचा जा रहा है, अगर यह मान लें कि एक टिकट 10 करोड़ रुपये में बेची गई है तो भी 70 टिकट बेचने में 700 करोड़ रुपये कमा लिए जाएंगे।

अगर इस 700 करोड़ रुपये को केजरीवाल और सिसोदिया ने 350-350 करोड़ रुपये में बाँट लिया तो भी ये दोनों जिंदगी भर मौज करेंगे। इनको जिंदगी भर काम करने कि जरूरत नहीं पड़ेगी, ट्विटर पर इनका टाइम पास हो ही जाएगी। केजरीवाल और सिसोदिया ने बहुत बड़ा गेम खेला है। चालाकी इसी को कहते हैं।