प्रियंका वाड्रा को नहीं दिख रही हिंसा, दंगा-फसाद, बोलीं- पुलिस ने लोगों को बेवजह पीटा

LIKE फेसबुक पेज

मुजफ्फरनगर, 4 जनवरी: नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में उत्तर प्रदेश में दंगा मचाने वाले दंगाइयों को कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी लगातार समर्थन दे रही हैं और निर्दोष बता रही हैं।

दरअसल नागरिकता संसोधन कानून के विरोध में हुई हिंसा में मारे गए दंगाइयों के घर जा-जाकर उनके परिवारों से प्रियंका गांधी वाड्रा मुलाक़ात कर रही हैं और दंगाइयों को शहीद का दर्जा देने की मांग कर रही हैं, इसी कड़ी में प्रियंका गाँधी वाड्रा यूपी के मुजफ्फरनगर में एक दंगाई के घर पहुँची।

दंगाई के परिवार से मुलाक़ात करने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मीडिया से बात करते हुए यूपी पुलिस पर निशाना साधा। प्रियंका गांधी ने कहा, मुलाकात के वक्त मौलाना साहब ने बताया की पुलिस ने लोगों को बेवजह बेरहमी से पीटा। प्रियंका ने कहा, पुलिस ने ऐसी पिटाई की है की किसी के हाथ में पत्तियाँ बंधी हैं, किसी का सर फूट गया है।

प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान से सवाल यह खड़ा होता है की क्या, प्रियंका को उत्तर प्रदेश में दंगाइयों द्वारा की गयी हिंसा और आगजनी दंगा-फसाद नहीं दिखाई दे रहा है? सिर्फ दंगाइयों की चोटें दिखाई दे रही हैं, सच्चाई यह है की उत्तर प्रदेश में दंगाइयों ने कई बसों को फूंक दिया। पुलिस पर पत्थरबाजी की, पाकिस्तान जिंदाबाद और हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए, इसके बावजूद प्रियंका गांधी की नजरों में ऐसा करने वाले दंगाई बेगुनाह हैं।