निर्भया के दरिंदों को फांसी पर लटकना तय, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की क्यूरेटिव पेटिशन

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 14 जनवरी: निर्भया गैंगरेप और ह्त्या के दोषियों को आज बची-खुची उम्मीद भी ख़त्म हो गयी। जी हाँ। क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया के गुनहगारों की क्यूरेटिव याचिका खारिज कर दी है।

निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले में दोषियों को मिली मौत की सजा के खिलाफ दो क्यूरेटिव पेटिशन पर सुनवाई करते हुुए सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका खारिज कर दी। यह सुनवाई 2012 गैंगरेप और हत्या के दोषी विनय और मुकश की याचिका पर जस्टिस एनवी रमन्ना की अगुवाई वाली पांच सदस्यीय सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने की।

गौरतलब है कि पिछले मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत ने मुकेश, पवन गुप्ता, विनय कुमार शर्मा और अक्षय कुमार सिंह के खिलाफ डेथ वारंट जारी किया और कहा कि उन्हें 22 जनवरी को सुबह 7 बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जाएगी। इसके बाद दोषी मुकेश और विनय ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पेटिशन लगाई थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। इन दरिंदों को फांसी होना तय हैं, इनके लिए सभी क़ानूनी रास्ते बंद हो गए हैं।