फांसी पर लटकाया जाएगा बलात्कारी मामू अराफात, अपनी 6 वर्षीय भांजी से किया था बलात्कार

LIKE फेसबुक पेज

लखनऊ, 19 जनवरी: लखनऊ के सआदतगंज में छह साल की मासूम दुष्कर्म और हत्या के मामले में शुक्रवार को पॉक्सो एक्ट की विशेष अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है, फैसले के दिन अदालत में मृतका मासूम की मां और बुआ गई थी।

जैसे ही जज ने बलात्कारी अराफात उर्फ़ बबलू को दोषी करार दिया और फांसी की सजा सुनाई तो मां और बुआ की आंख से आंसू छलक आए और दोनों कोर्ट के बाहर निकल गईं। वहीं से फोन कर मासूम के पिता को फैसले की जानकारी दी। देर शाम को मासूम की नानी ने वजीरबाग स्थित दरगाह पहुंचकर लोगों में मिठाई बांटी।

बता दें की 15 सितंबर 2019 को शाम सवा पांच बजे 6 वर्षीय मासूम घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने काफी तलाशा मगर कुछ पता नहीं चल पाया। घटना की जानकारी थाना सआदतगंज में दी गई। पुलिस की जांच में पता चला कि लड़की आखिरी बार मामा बबलू उर्फ़ अराफात के साथ देखी गई। पुलिस जब अराफात के घर पहुंची तो बिस्तर के नीचे से बच्ची का गला रेता हुआ शव बरामद हुआ। बबलू ने दुष्कर्म के बाद पहले उसका गला दबाया, फिर चाकुओं से वार किया और हथौड़े से कुचल डाला था। उसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और 4 महीनें के भीतर फांसी की सजा सुना दी।