दीपक चौरसिया पर हुआ जानलेवा हमला तो भड़कीं रुबिका लियाकत, बोलीं- शाहीन बाग़ वाले दोगले हैं

नई दिल्ली, 25 जनवरी: दिल्ली के शाहीन बाग़ में करीब 40 दिनों से नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है। मुस्लिमों की भीड़ ने यहां गुरुवार को रिपोर्टिंग करने पहुंचे न्यूज नेशन के पत्रकार दीपक चौरसिया पर हमला कर दिया। इतना ही नहीं दीपक चौरसिया के साथ मौजूद कैमरामैन के साथ भी मारपीट हुई।

वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया के साथ हुई बदसलूकी की एंकर रुबिका लियाकत ने कड़ी निंदा की है और शाहीन बाग़ में प्रदर्शनकारियों की आड़ में बैठे गुंडों पर जोरदार हमला बोला है।

रुबिका लियाकत ने कहा की, इसे दोगलापन कहते हैं। आज़ादी के नारे बुलंद करेंगे लेकिन किसी को आज़ादी से काम नहीं करने देंगे। “हम सरकार के निशाने पर हैं” कह कर दुःख जताएँगे और पत्रकार को निशाने पर लेंगे। रुबिका ने कहा, दीपक चौरसिया कह रहे हैं कि इनका दुख जानने आए हैं और उन्हीं पर हमला कर रहे हैं। बहुत शर्मनाक है।

मुस्लिमों की भीड़ से जान बचाकर भागे पत्रकार दीपक चौरसिया ने कहा की, सुन रहे हैं कि संविधान खतरे में है, सुन रहे हैं कि लड़ाई प्रजातंत्र को बचाने की है! जब मैं शाहीन बाग की उसी आवाज को देश को दिखाने पहुंचा तो वहां मॉब लिंचिंग से कम कुछ नहीं मिला!

loading...