मोदी सरकार के सामने मलेशियाई PM महातिर मोहम्मद ने टेके घुटने, कहा- हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं

नई दिल्ली, 20 जनवरी: मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद आख़िरकार अपने हठधर्मी छोड़कर मोदी सरकार के सामने घुटने तक दिए हैं, महातिर मोहम्मद ने सोमवार को स्पष्ट किया कि उनका देश अपने पाम ऑइल के आयात का बहिष्कार किए जाने पर भारत के खिलाफ कोई जवाबी कार्रवाई नहीं करेगा।

उन्होंने यह माना कि भारत जैसी विशाल अर्थव्यवस्था के सामने मलयेशिया कहीं नहीं टिकता है, इसलिए जवाबी कार्रवाई की सवाल ही नहीं उठता है। मलयेशियाई पीएम ने कहा, ‘हम जवाबी कार्रवाई करने के लिहाज से बेहद छोटे हैं।

बता दें की भारत खाद्य तेलों का दुनिया का सबसे बड़ा आयातक है जबकि मलयेशिया भारत को सबसे ज्यादा खाद्य तेल निर्यात करता है। हालांकि, मलयेशिया के प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने और नागरिकता कानून में संशोधन किए जाने पर भारत सरकार की आलोचना की तो जवाब में भारत ने इस महीने से मलयेशिया के पाम ऑइल का आयात रोक दिया। मलयेशिया दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा पाम तेल का उत्पादक देश है, ऐसे में उसके सबसे बड़े आयातक के बहिष्कार से बहुत बड़ा झटका लगा है। इसके बढ़ कहा की अब हम भारत से बातचीत करेंगें।

मुस्लिम बहुल देश मलयेशिया के प्रधानमंत्री ने भारत के नागरिकता (संशोधन) कानून, 2019 की भी आलोचना की थी। उन्होंने आर्टिकल 370 हटाए जाने को कश्मीर पर भारत का आक्रमण बताया था। लेकिन मोदी सरकार ने मलेशिया की सारी अकड़ निकाल रख दी।

loading...