पाकिस्तान में हिन्दुओं की धार्मिक आस्था पर मुस्लिमों ने बरपाया कहर, मंदिर तोड़कर बनाई मस्जिद

LIKE फेसबुक पेज

इस्लामाबाद, 7 जनवरी: पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहा अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहा है, पाकिस्तानी मुस्लिम कभी सिखों को को निशाना बना रहे हैं तो कभी हिन्दुओं पर कहर बरपा रहे हैं। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की जिंदगी बद से बदतर हो गयी है, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार का आलम यह है की हिन्दुओं के मंदिरों को मस्जिदों में तब्दील कर दिया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, पाकिस्तान के नासूरपुर में सिंधी लोगों के प्रभू लाल साईं का मंदिर जो कि झूलेलाल मंदिर के नाम से जाना जाता है, इसपर मंदिर मुस्लिमों ने कब्ज़ा करके इसे मस्जिद बना दिया। मुस्लिम ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की आवाज़ उठाने वाला कोई नहीं है।

पाकिस्तान में आये दिन हिन्दू और सिखों को इस्लामिक अत्याचार का सामना करना पड़ रहा है, धार्मिक आस्था से खिलवाड़ किया जा रहा है। अभी कुछ दिन पहले मुस्लिमों ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमला बोल दिया था और उसे भी मस्जिद बनाने की धमकी दी है।

पाकिस्तान में इस्लामिक अत्याचार के शिकार अल्पसंख्यकों के जीवन में नयी रोशनी लाने के लिए मोदी सरकार ने नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) बनाया है, ताकि अल्पसंख्यकों भारत में आसानी से नागरिकता मिल जाए लेकिन कांग्रेस सहित कई पार्टियां इस कानून का विरोध कर रही हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की पाकिस्तान ने साल 2017 में जनगणना करवाई थी और दो साल से अधिक का समय होने के बावजूद भी उसने अल्पसंख्यक समुदायों से संबंधित डेटा जारी नहीं किया है। पाकिस्तान में हिंदू, सिख, ईसाई आदि अल्पसंख्यक समुदाय हैं। यहां अल्पसंख्यकों की संख्या लगातार कम हो रही है।