JNU के शरजील ईमाम को गिरिराज ने बताया गद्दार, कहा- कैसे मान लूं इनका खून है यहां की मिट्टी में

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 25 जनवरी: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर देशभर में कई जगहों पर भड़काऊ नारेबाजी और हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बीच जेएनयू के छात्र शरजिल इमाम का देश तोड़ने वाला बयान आया है, शरजील द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा हमारे संघीय ढांचे पर प्रहार की तरह है। यह भाषा अलगाववादी और देश को विभाजित करने के एजेंडे को दिखाती है। शरजिल इमाम ने कहा है कि असम को भारत से अलग कर देना चाहिए।

शरजील इमाम के देश तोड़ने वाले बयान पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पलटवार करते हुए जोरदार हमला बोला है, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर शरजिल को गद्दार करार दिया है।

गिरिराज सिंह ने ट्वीट में लिखा- ये कहते है सभी का खून है शामिल यहां की मिट्टी में… किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है। इन गद्दारों की बात सुनकर कैसे मान लूं की इनका खून शामिल है यहां की मिट्टी में? कह रहा है असम को काट कर हिंदुस्तान से अलग कर देंगे।

बता दें की जेएनयू छात्र शरजिल इमाम ने देश तोड़ने की धमकी देते हुए कहा- ‘हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। स्थायी तौर पर नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से अलग कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको हटाने में एक महीना लगे। जाना हो तो जाएं वायुसेना से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है। शरजील ईमाम के इसी देशविरोधी बयान पर बवाल मचा हुआ है।