आर्मी-कैम्प के पास बहुत बड़ा बँगला बनवा रखा है गद्दार DSP देवेंद्र सिंह, गद्दारी करके कमाए पैसे

gaddar-dsp-devendra-singh-exposed-in-kashmir-news

नई दिल्ली: आतंकियों से भी अधिक खतरनाक भारत में छुपे गद्दार खतरनाक हैं जो आतंकियों का साथ देते हैं, कुछ पैसों के लिए ये अपना जमीर बेच देते हैं और भारत माता के अंचल पर ही छेद करते हैं। जम्मू कश्मीर का गद्दार पुलिस अधिकारी देवेंद्र सिंह भारत के लिए बहुत खतरनाक था, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया वरना वो कई बड़े हमले करवाने में पाकिस्तानी आतंकियों का साथ देने वाला था, उसके खतरनाक इरादों का इसी से पता चलता है की वह आर्मी कैम्प की दीवार से लगकर एक बड़ा बँगला बनवा रखा है, अब ये तो सवाल उठेंगे नहीं कि उसके पास अकूत पैसे कहाँ से आये, जाहिर है कि उसने गद्दारी करके पैसे कमाए और उन्हीं पैसों से बँगला बनवाया।

अब सवाल ये उठता है कि गद्दार देवेंद्र सिंह ने आर्मी कैम्प के बगल ही बड़ा बँगला क्यों बनवाया, कहीं इसलिए तो नहीं कि – वह अपने बंगले में आतंकियों को छुपा सके और बंगले के अंदर से ही आर्मी कैम्प के अंदर नजर रखी जा रहे, अगर ऐसा है तो देवेंद्र सिंह के इरादे बहुत ही ज्यादा खतरनाक थे।

जम्मू कश्मीर के गद्दार DSP देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी से भारत सरकार को काफी फायदा होगा, गद्दारों के नेटवर्क का पता चलेगा और ऐसे लोगों के खतरनाक मंसूबों को ध्वस्त किया जा सकेगा। यह भी पता चल सकेगा की कश्मीर में और कितने गद्दार हैं जो पाकिस्तानी आतंकियों की मदद करते हैं और भारत में हमले करवाते हैं। यही नहीं देश में फैले गद्दारों के नेटवर्क की जानकारी हो सकेगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गद्दार DSP देवेंद्र सिंह को पद से बर्खास्त कर दिया गया है, उन्हें NIA के सुपुर्द किया गया है, देवेंद्र सिंह से पूछताछ की जा रही है, उससे पूछा जाएगा की कितने आतंकी हमलों में उसने आतंकियों का साथ दिया है, आतंकी लोग भारत में कैसे प्रवेश करते हैं, बॉर्डर पर उनकी मदद कौन करता है। देवेंद्र सिंह दो दशक से कश्मीर में ड्यूटी कर रहा है, उसे सब इंस्पेक्टर पद से पुलिस सेवा की शुरुआत की थी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गद्दार DSP देवेंद्र सिंह को कश्मीर में तीन अन्य आतंकियों के साथ गिरफ्तार किया गया था, ये लोग किसी बड़े आतंकी हमले की प्लानिंग कर रहे थे, देवेंद्र सिंह के घर की तलाशी के बाद कई अवैध हथियार मिले। भारत में उसके लिए कड़ी सजा की मांग की जा रही है।

loading...