मध्यप्रदेश: दलित युवक धनीराम की मौत, कुछ दिन पहले मुसलमानों ने जिन्दा जलाया था

LIKE फेसबुक पेज

मध्यप्रदेश, 24 जनवरी: दलित युवक धनीराम की शुक्रवार को मौत हो गई है, मध्यप्रदेश के सागर के रहने वाले धनीराम को कुछ दिनों पहले लगभग आधा दर्जन मुसलमानों ने मिलकर केरोसिन डालकर जिन्दा जला दिया था। धनीराम का कसूर सिर्फ इतना था की उसने मुसलमानों के आतंक के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। जिसे मुस्लिम सहन नहीं कर पाए और मिटटी का तेल डालकर आग के हवाले कर दिए।

आग लगने के बाद धनीराम का 60 फीसदी शरीर जल चुका था, धनीराम को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन-चार दिन बाद धनीराम की मौत हो गयी। मध्यप्रदेश में दलित युवक के साथ इतनी बड़ी घटना हो जाने के बावजूद सभी तथाकथित दलित चिंतक खामोश हैं।

चाहे बसपा प्रमुख मायावती हों, भीम आर्मी वाले चंद्रशेखर रावण हो या कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा हों सब खामोश हैं, किसी के मुंह से कोई आवाज नहीं आयी। इन सब की खामोशी का कारण यह है की ये घटना कांग्रेस साशित राज्य मध्यप्रदेश की है, इसके अलावा गुनहगार मुसलमान हैं। जिन्हें ये नेता शांतिप्रिय समुदाय कहते हैं। इसलिए सब खामोश हैं।