मुस्लिम देशों द्वारा सताए गए हिन्दुओं की नागरिकता का कांग्रेस कर रही विरोध

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 14 जनवरी: मोदी सरकार ने नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के तहत मुस्लिम देशों में इस्लामिक अत्याचार का शिकार गैरमुस्लिमों को भारत में नागरिकता देने का प्लान बनाया है। लेकिन कांग्रेस पार्टी इसका जमकर विरोध कर रही है। कांग्रेस नहीं चाहती की पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के हिन्दू, सिख, ईसाईयों, बौद्धों, पारसियों को भारत की नागरिकता मिले।

मालूम हो की मोदी सरकार ने संसद के दोनों सदनों में नागरिकता सांसोधन बिल जो अब नागरिकता संसोधन कानून बन गया है। पास कराया। इस कानून के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के गैरमुस्लिमों को भारत की नागरिकता मिलेगी। क्यूंकि अल्पसंख्यकों के साथ इस्लामिक देशों में अत्याचार होता ही है, ये किसी से छुपाये नहीं छुपा है। इसके बावजूद कांग्रेस पार्टी नागरिकता संसोधन कानून का विरोध कर रही है।

यही नहीं कांग्रेस पार्टी उन दंगाइयों का समर्थन भी कर रही है जो नागरिकता संसोधन कानून के विरोध के नाम पर देशभर में हिंसा फैला रहे हैं, बसों में आग लगा रहे हैं, सार्वजनिक संपत्ति को जलाकर तबाह कर रहे हैं।