208 वॉइस चांसलरों ने PM मोदी को पत्र लिखकर कहा- शिक्षण संस्थानों को बर्बाद कर रहे वामपंथी

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 12 जनवरी: देश की अलग-अलग यूनिवर्सिटीज के कुलपतियों समेत 208 शिक्षाविदों ने जेएनयू के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में उन्होंने वामपंथी संगठनों पर कैंपस में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया है।

चिट्ठी में लिखा गया है कि लेफ्ट विंग एक्टिविस्ट्स की गतिविधियों की वजह से कैंपस में पढ़ाई-लिखाई का काम बाधित होता है और इससे विश्वविद्यालयों का माहौल खराब हो रहा है। इन शिक्षाविदों ने आरोप लगाया है कि इन ग्रुप्स द्वारा कम उम्र के छात्रों को वैचारिक रूप से प्रभावित किया जा रहा है। जिससे नए छात्र पढ़ाई-लिखाई पर ध्यान नहीं दे पाते हैं. पीएम मोदी को ये पत्र शनिवार को लिखा गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, पीएम मोदी को लिखे इस पत्र में शिक्षाविदों ने कहा, हम शिक्षाविदों का समूह शिक्षण संस्थानों में बन रहे माहौल पर अपनी चिंताएं बताना चाहते हैं. हमने यह महसूस किया है कि शिक्षण संस्थानों में शिक्षा सत्र के रोकने और बाधा डालने की कोशिश छात्र राजनीति के नाम पर वामपंथ एक एजेंडे के तहत कर रहा है. हाल ही में जेएनयू से लेकर जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से लेकर जाधवपुर विश्वविद्यालय के माहौल में जिस तरह की गिरावट आई है वह वामपंथियों और लेफ्ट विंग एक्टिविस्ट के एक छोटे समूह की वजह से हुआ है।