नागरिकता कानून के खिलाफ पत्थरबाजी-आगजनी कर रहे मौलाना को UP पुलिस ने सिखाया सबक

मुजफ्फरनगर, 30 दिसंबर: नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के खिलाफ सबसे ज्यादा हिंसक विरोध प्रदर्शन उत्तर प्रदेश में हुआ, दंगाइयों ने जिस हिसाब से दंगा मचाया, यूपी पुलिस ने उन्हें उसी हिसाब से सबक भी सिखाया ताकि दोबारा उपद्रव करने की जुर्रत न कर सके?

ऐसी ही एक और घटना उत्तर प्रदेश के मुजफरनगर से आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, 66 साल के मौलाना असद राज़ा हुसैनी को यूपी पुलिस ने जमकर पीटा, मौलाना के दोनों हाथों और दोनों पाँवों में पट्टियां बंधी हुई हैं। मौलाना के परिजनों ने बताया कि कुछ पुलिस कर्मियों ने उन्हें हिरासत में नंगा करके पीटा और बुरी तरह प्रताड़ित किया है और वह इस अपमान के कारण लगे सदमे से उबर नहीं पा रहे हैं।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है की मौलाना को मुजफ्फरनगर पुलिस ने पत्थरबाजी और आगजनी करते हुए रंगे हाथ पकड़ा था, उसके बाद पुलिस ने सबक सिखाया, हालाँकि मुजफ्फरनगर पुलिस का इस घटना पर कोई स्पष्टीकरण नहीं आया है।