तीस हजारी कोर्ट ने खारिज की भीम आर्मी की याचिका, जेल भेजे गए चंद्रशेखर रावण

नई दिल्ली, 21 दिसंबर: दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने दरियागंज में हुई हिंसा के संबंध में गिरफ्तार किए गए भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. वहीं अन्य 15 लोगों को दो दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.

दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार लोगों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का अनुरोध किया था. गिरफ्तार किये गए लोगों में एक व्यक्ति ने नाबालिग होने का दावा किया है. हालांकि पुलिस का कहना है कि उसकी उम्र 23 साल है।

कोर्ट में सुनवाई के दौरान चंद्रशेखर आजाद रावण जमानत की मांग की. जिसका विरोध करते हुए पुलिस ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं, पुलिस की बात मानते हुए कोर्ट ने रावण को जेल भेजने का आदेश दिया।

दरअसल चंद्रशेखर रावण के संगठन भीम आर्मी ने नागरिकता संसोधन कानून (CAA) के खिलाफ शुक्रवार को जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक एक मार्च आयोजित की थी जबकि पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी थी, इसलिए पुलिस ने गिरफ्तार किया था।