सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता कानून पर रोक लगाने से किया इनकार, ओवैसी सहित 59 याचिकाकर्ताओं को झटका

नई दिल्ली, 18 दिसंबर: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली के जामिया और सीलमपुर समेत कई जगहों पर हुए प्रदर्शन ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया। इस बाबत दिल्ली नॉर्थ ईस्ट में धारा-144 लागू कर दी गई है। वहीँ सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून, 2019 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई किया।

नागरिकता संशोधन कानून, 2019 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है, हालाँकि इस कानून पर कोई रोक नहीं लगी है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की – नागरिकता कानून के खिलाफ 59 याचिकाएं दाखिल की गई थीं। हालांकि कोर्ट ने कानून पर रोक लगाने से मना कर दिया है। कोर्ट ने मामले पर जनवरी के दूसरे सप्ताह तक केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। अब मामले की अगली सुनवाई 22 जनवरी 2020 को होगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ मुस्लिम लीग, कांग्रेस नेता जयराम रमेश, पीस पार्टी, हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी सहित 59 लोगों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थे, इन लोगों ने नागरिका संसोधन कानून को असंवैधानिक और गैरकानूनी बताया था।

loading...