मध्यप्रदेश: जातिवादी ताकतों के खिलाफ धरना दे रहे 23 छात्रों को साजिशन किया गया निष्काषित

भोपाल, 18 दिसंबर: मध्यप्रदेश के भोपाल की माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय में दो अनुबंधक प्रोफेसरों के विवादित ट्वीट के बाद धरना प्रदर्शन करने वाले 23 छात्रों को साजिश के तहत निष्कासित कर दिया है। अब इन सभी 23 छात्रों पर एफआईआर भी कराने की तैयारी की जा रही है। निष्काषित किये गए ज्यादातर बच्चे यूपी बिहार के हैं।

विश्वविदयालय के आदेश में कहा गया है कि निष्कासन अवधि में छात्र न तो कक्षा में उपस्थित हो सकेंगे और न ही परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। वहीं इस मामले में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर छात्रों का निष्‍कासन वापस लेने की मांग की है।

दरअसल, पत्रकारिता विश्वविद्यालय के अनुबंधक प्रोफेसर और खुद को दलित के पुरोधा कहने वाले दिलीप मंडल और मुकेश कुमार ने समाज विशेष को लेकर लगातार कई विवादित ट्वीट किए थे। इससे नाराज छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में धरना प्रदर्शन किया था। इसे लेकर विश्वविद्यालय के कुलपति ने पहले तो पुलिस बुला ली थी। इसके बाद उन पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज भी करा दिया था। इस दौरान छात्रों की पुलिस ने जमकर लात घूसों से पिटाई भी की थी।

कांग्रेस साशित मध्यप्रदेश में छात्रों के ऊपर हुए इस अत्याचार पर अभीतक राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सहित किसी भी नेता का मुंह नहीं खुला है। जबकि यही नेता जामिया के जिहादियों के समर्थन में धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।