भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का सपना देखने वाले पाकिस्तान की CAB बिल की वजह से उड़ी नींद

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 10 दिसंबर: भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का सपना देखने वाले पाकिस्तान की सिटिज़नशिप अमेंडमेंट बिल ( CAB ) की वजह से नींद उड़ गयी है? आपको बता दें कि – पाकिस्तान चुपचाप भारत को इस्लामिक राष्ट्र बना रहा है, गैरकानूनी तरीके से मुस्लिमों को भारत में भेजकर मुस्लिमों की आबादी बढ़ा रहा है ताकि धीरे धीरे मुस्लिमों की आबादी भारत में हिन्दुओं की आबादी से अधिक हो जाए।

इस मकसद को पूरा करने के लिए पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है। आईएसआई अवैध रूप से मुस्लिमों की भारत में घुसपैठ कराती थी। लेकिन CAB की वजह से पाकिस्तान के सपने टूटते हुए दिखाई दे रहे हैं। क्योंकि नागरिकता संसोधन बिल की वजह से मुसलमान घुसपैठियों को भारत में जगह नहीं मिल पाएगी, इस तरह से पाकिस्तान का भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का सपना चूर-चूर हो गया है।

बता दें कि – भारत सरकार जो नागरिकता संशोधन बिल लाई है, उसके तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले हिंदू, बौद्ध, जैन, पारसी, सिख, ईसाई शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिलने में आसानी होगी। जबकि मुस्लिमों की कोई जगह नहीं होगी।

भारत की लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा की – भारत की लोकसभा द्वारा जो नागरिकता बिल पास किया गया है, उसका हम विरोध करते हैं. ये कानून पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय समझौते और मानवाधिकार कानून का उल्लंघन करता है. ये राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हिंदू राष्ट्र का एजेंडा है जिसे अब मोदी सरकार लागू कर रही है।