निर्भया के गुनहगारों के वकील AP सिंह बोले- पहला अपराध है, माफ़ कर दिया जाय

नई दिल्ली, 13 दिसंबर: सात साल पहले राजधानी दिल्ली में चलती बस के दौरान 6 दरिंदों ने निर्भया ( बदला हुआ नाम ) के साथ बलात्कार जैसी जघन्य घटना को अंजाम दिया था। सुप्रीम कोर्ट आरोपियों को फांसी की सजा भी सुना चुका है, फ़िलहाल 4 आरोपी तिहाड़ जेल में बंद हैं, एक ने तिहाड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, दूसरे को नाबालिग होने का फायदा मिल गया। इस जघन्य घटना को बीते सात साल हो गए हैं, एकसुर में देशवासी कह रहे हैं की निर्भया के गुनहगारों को फांसी पर लटकाया जाय।

लेकिन इसी बीच निर्भया के गुनहगारों के वकील एपी सिंह का बयान सामने आया है, वकील एपी सिंह ने कहा की, आरोपी बहुत गरीब हैं, इन्होनें पहला अपराध किया है, पीछे कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है, इसलिए सभी आरोपियों की फांसी की सजा को माफ़ किया जाय, क्योंकि मेरे हिसाब से फांसी पर लटकाने से रेप की घटनाएं रुक नहीं सकती।

बता दें की निर्भया के गुनहगारों की शुक्रवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी है, अटकलें लगाई जा रही है की आज आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी हो सकता है, क्योंकि तिहाड़ जेल आरोपियों को फांसी पर लटकाने की पूरी तैयारी कर चुका है। आरोपियों ने राष्ट्रपति को दया याचीका भी भेजी है।