जामिया मिल्लिया की VC नजमा अख्तर बोलीं- नहीं मरा जामिया का कोई छात्र, फैलाई जा रही अफवाह

नई दिल्ली, 16 दिसंबर: राजधानी दिल्ली में रविवार को नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा था इस दौरान प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और कई बसों एवं कारों को आग के हवाले कर दिया। बसों को फूंकने का आरोप जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों पर लगा। इस मामलें जामिया की वॉइस चांसलर नजमा अख्तर ने प्रेस प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके अपना पक्ष रखा।

नजमा अख्तर ने कहा की, तोड़फोड़ में जामिया के छात्र शामिल नहीं थे, इसके अलावा उन्होंने कहा की, दिल्ली पुलिस जबरन विश्ववद्यालय कैम्पस में घुस गयी, विश्वविद्यालय में बहुत सारी संपत्ति की क्षति हुई है, इस सब की भरपाई कैसे होगी? इससे भावनात्मक नुकसान भी हुआ है। कल की घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी। मैं सभी से किसी भी तरह की अफवाहों पर विश्वास न करने की अपील भी करती हूं।

इसके साथ ही जामिया मिल्लिया इस्लामिया की वॉइस चांसलर नजमा अख्तर ने कहा की, एक बड़ी अफवाह है कि दो छात्रों की मृत्यु हो गई, हम इस बात से पूरी तरह इनकार करते हैं, हमारे किसी भी छात्र की मृत्यु नहीं हुई। लगभग 200 लोग घायल हुए जिनमें से कई हमारे छात्र थे।