नागरिकता कानून के विरोध में उतरे व्यंगकार मुजतबा हुसैन, पद्मश्री सम्मान लौटाने का किया एलान

नई दिल्ली, 18 दिसंबर: नागरिकता संसोधन कानून लागू होने के बाद देश के कई हिस्सों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हो रहा है, इसके अलावा कुछ सम्मानति हस्तियां भी अपने हिसाब से विरोध कर रहे हैं, इसी में से एक नाम है मुज्तबा हुसैन, हुसैन ने नागरिकता कानून के विरोध में अपना पद्मश्री सम्मान लौटाने का एलान किया है।

बता दें की मुज्तबा हुसैन उर्दू लेखक, हास्य और व्यंग्यकार और पद्म पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति हैं, हुसैन ने घोषणा की है कि वह अपना पुरस्कार सरकार को लौटा देंगे, उन्होंने कहा कि देश की मौजूदा हालत को देखते हुए उन्होंने यह फैसला लिया है। मुजतबा हुसैन को साल 2007 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

मुजतबा हुसैन ने कहा, देश में अशांति, भय और नफरत की जो आग भड़काई जा रही है, वह वास्तव में परेशान करने वाली है. जिस लोकतंत्र के लिए हमने इतना दर्द झेला और जिस तरह से इसे बर्बाद किया जा रहा है कि वह निंदनीय है।

बता दें की नागरिकता कानून के विरोध में पूर्वोत्तर से लेकर पश्चिम बंगाल में हो रहा हिंसक विरोध प्रदर्शन अब राजधानी दिल्ली पहुँच चुका है, दिल्ली के जामिया नगर में रविवार को और जाफराबाद सीलमपुर में मंगलवार को खूनी हिंसा हुई है।