तिहाड़ जेल गया कलयुगी रावण, मायावती समझ गयी रावण की शातिर चाल, कर दिया पर्दाफाश, पढ़ें

mayawati-expose-chandrashekhar-rawan-on-caa-protest-tihar-jail

नई दिल्ली: मायावती हमेशा से दलित और मुस्लिम पॉलिटिक्स करती रही हैं लेकिन अब भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर उर्फ़ कलयुगी रावण भी मायावती के रास्ते पर चल पड़े हैं इसलिए मायावती को उनसे जलन हो रही है। नागरिकता संसोधन कानून पर रावण ने दिल्ली की जामा मस्जिद इलाके में प्रोटेस्ट किया जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके 21 दिसंबर को जेल भेज दिया।

आज के जमाने में नेता लोग लोकप्रियता पाने के लिए जेल जाते हैं, कई लोग तो खुद ऐसा काम कर देते हैं जिसके बाद पुलिस उन्हें मजबूरन जेल भेजती है। रावण ने भी सोची समझी प्लानिंग के तहत खुद को गिरफ्तार करवाकर कल तिहाड़ जेल चला गया।

रावण के जेल जाने से उसकी लोकप्रियता बढ़ेगी और मुस्लिम समाज पर भी उसकी पकड़ मजबूत होगी, मयावती को ये पसंद नहीं आया इसलिए उन्होंने कहा की जनता रावण से सावधान रहे। उसने जान बूझकर खुद को दिल्ली में गिरफ्तार करवाया है क्योंकि वह यूपी का रहने वाला है तो उसे यूपी में ही प्रदर्शन करना चाहिए था।

मायावती ने आज सिलसिलेवार कई ट्वीट किये – देखिये –

“दलितों का आम मानना है कि भीम आर्मी का चन्द्रशेखर, विरोधी पार्टियों के हाथों खेलकर खासकर बी.एस.पी. के मज़बूत राज्यों में षड़यन्त्र के तहत चुनाव के करीब वहाँ पार्टी के वोटों को प्रभावित करने वाले मुद्दे पर, प्रदर्शन आदि करके फिर जबरन जेल चला जाता है।

जैसे यह यू.पी. का रहने वाला है, लेकिन CAA/NRC पर यह यू.पी. की बजाए दिल्ली के जामा मस्जिद वाले प्रदर्शन में शामिल होकर जबरन अपनी गिरफ्तारी करवाता है क्योंकि यहाँ जल्दी ही विधानसभा चुनाव होने वाला है।

अतः पार्टी के लोगों से अपील है कि वे ऐसे सभी स्वार्थी तत्वों, संगठनों व पार्टियों से हमेशा सचेत रहें। वैसे ऐसे तत्वों को पार्टी कभी लेती नहीं है, चाहे वे कितना प्रयास क्यों ना कर ले?”