मायावती बोलीं, पाकिस्तान में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का बदला हिंदुस्‍तान में मुसलमानों से…?

LIKE फेसबुक पेज

लखनऊ, 17 दिसंबर: नागरिकता संशोधन कानून के मुद्दे पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है, इस सिलसिले में मायावती ने कहा कि मैं केंद्र सरकार से मांग करती हूं कि वह इस असंवैधानिक कानून को वापस ले अन्‍यथा भविष्‍य में इसके भयावह परिणाम होंगे. उनको इमरजेंसी जैसे हालात नहीं पैदा करने चाहिए जैसा कि पहले कांग्रेस ने किया।

मायावती ने कहा कि सरकार अपने स्वार्थ के लिए किसी समुदाय और धर्म की उपेक्षा और भेदभाव कर रही है. नए बने कानून में देखने को मिल रहा है. नए कानून में मुस्लिम समाज की पूरी तरह से उपेक्षा की गई है. ये पूरी तरह से विभाजनकारी है. हमारी पार्टी इसे पूरे तौर पर विभाजनकारी, असंवैधानिक मानती है।

मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार पाक में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का बदला हिंदुस्‍तान में मुसलमानों से ले रही है जोकि न्यायसंगत नहीं है और मानवता के विरुद्ध है. सुप्रीम कोर्ट भारत की गरिमा को गिरने नहीं देगा. शिक्षण संस्थान भी इसकी चपेट में आ गए हैं. केंद्र से मांग करती हूं कि विभाजनकारी कानून वापस ले।