तीन राज्य के मुख्यमंत्रियों का ऐलान, अपने यहाँ नहीं लागू होने देंगे CAB, चाहे कुछ भी हो जाए

नई दिल्ली, 13 दिसंबर: नागरिकता संसोधन बिल संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में पास हो गया, इस बिल पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी हस्ताक्षर कर दिया। अब ये बिल क़ानूनी रूप ले चुका है, लेकिन इसी बीच तीन राज्य के मुख्यमंत्रियों ने ऐलान किया है की हम अपने राज्य में किसी भी कीमत पर नागरिकता बिल लागू नहीं होने देंगें?

पंजाब, केरल और पश्चिम के मुख्यमंत्रियों ने नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) को संविधान के खिलाफ बताते हुए इसे अपने-अपने राज्यों में लागू नहीं करने का ऐलान किया है।

कांग्रेस नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने CAB व NRC, दोनों को गलत बताया. कैप्टन ने कहा कि पंजाब किसी हालत में इस विधेयक को मंजूर नहीं करेगा, क्योंकि यह भी एनआरसी की तरह लोकतंत्र की भावना के विपरीत है. उन्होंने कहा कि पंजाब में इसे लागू नहीं किया जाएगा।

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि केरल CAB को स्‍वीकार नहीं करेगा। विजयन ने इस संशोधन को असंवैधानिक बताते हुए कहा कि केंद्र सरकार भारत को धार्मिक आधारों पर बांटने की कोशिश कर रही है। इसलिए हम CAB को केरल में नहीं लागु होने देंगें।

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कहा, मेरे शासन में यह बिल राज्य में लोगों पर लागू नहीं पाएगा. CAB से डरने की जरूरत नहीं है. हम आपके साथ हैं. जब तक हम यहां हैं कोई इसे आप पर नहीं थोप सकता। मालूम हो की लोकसभा और राज्यसभा में कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियों ने नागरिकता बिल का जोरदार विरोध किया था। लेकिन इस बिल को सदन में पास होने से नहीं रोक पाए।

loading...