जामिया के जिहादियों के खतरनाक मंसूबें, वीडियो में बोले, हिन्दुओं से छीन कर लेंगे आजादी

jamia-jihadi-says-in-video-hinduon-se-chheen-ke-lenge-azadi-news

नई दिल्ली: कल जामिया इलाके में जमकर हिंसा हुई, जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने भी जमकर हिंसा की लेकिन बाद में दिल्ली पुलिस ने उनकी खातिरदारी भी की। जामिया के जिहादियों का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह हिन्दुओं से भी छीनकर आजादी लेने के नारे लगा रहे हैं।

वीडियो में जिहादी पहले कहते हैं – मोदी शाह से आजादी, उसके बाद कहते हैं हिन्दुओं से छीनकर लेंगे आजादी। देखिये वीडियो –

काफी हिंसक हो गए थे जामिया के जिहादी

कल नई दिल्ली में इस्लामिया यूनिवर्सिटी के जिहादी छात्र काफी हिंसक हो गए थे, इन लोगों ने चार बसें और अन्य सरकारी संपत्ति फूंक डाली। ये लोग यहीं पर नहीं रुकने वाले थे, ऐसी सूचना मिली है की जामिया यूनिवर्सिटी में जिहादियों ने काफी पत्थर इकठ्ठा कर रखे थे, जिहादियों के छुपने की व्यवस्था कर दी गयी थी, ये लोग सोच रहे थे की दिल्ली पुलिस यूनिवर्सिटी कैम्पस में नहीं घुसेगी और ये लोग खुलकर आतंक मचा सकेंगे लेकिन इनकी सोच गलत साबित हुई, जिहादी भूल गए थे की दिल्ली पुलिस नरेंद्र मोदी और अमित शाह के हाथों में है, दिल्ली पुलिस यूनिवर्सिटी कैम्पस में घुसी और जिहादी छात्रों को उनकी ही भाषा में जवाब दिया, देखते ही देखते जामिया यूनिवर्सिटी कैम्पस खाली हो गया। जिहादी छात्र एवं छात्राएं या तो भाग गए या दिल्ली पुलिस ने उनकी जमकर खातिरदारी की, इससे पहले जिहादी छात्रों की पथरबाजी में कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए।

जिहादियों को नहीं है भारत से प्यार

जो भारत में पैदा नहीं हुआ उसे भारत से प्यार कैसे हो सकता है, जाहिर है ऐसे लोग ट्रेनें, बसें और एम्बुलेंस जलाने में एक मिनट भी देरी नहीं लगाएंगे, भारत में यही देखने को मिल रहा है। जिहादियों की आबादी बढ़ाने के समर्थक लोग भारत में ट्रेन, बसें और एम्बुलेंस जला रहे हैं। बंगाल में तो रेलवे स्टेशन ही फूंके जा रहे हैं। अधिकतर हिंसा उन्हीं स्थानों पर हो रही है जहाँ जिहादी अधिक हैं। दिल्ली में इस्लामिया यूनिवर्सिटी, यूपी में अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी हिंसा होना इस बात का सबूत है कि यहाँ के लोग जिहादियों की आबादी बढ़ाने के समर्थक हैं।

नागरिकता कानून से रुकेगी जिहादियों की आबादी

भारत में जिहादियों की आबादी रोकने के लिए ही मोदी सरकार ने नागरिकता बिल में सुधार किया है और जिहादी घुसपैठियों और शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने पर रोक लगा दी है।

भारत में करोड़ों जिहादी घुसपैठिये बांग्लादेश और पाकिस्तान से घुसपैठ कर गए हैं, लाखों रोहिंग्या भी भारत में बांग्लादेश के रास्ते प्रवेश कर गए हैं। अब ये लोग भारत के संसाधनों पर कब्जा करके असली हिन्दुस्तानियों के हक़ को मारना चाहते हैं, ये हिन्दुस्तानियों के रोजगार, रोटी कपडा और मकान के हक़ को छीनना चाहते हैं। लेकिन मोदी सरकार ने नागरिकता कानून में संसोधन कर दिया जिसके बाद करोड़ों घुसपैठियों की नागरिकता पर खतरा पैदा हो गया है, अब ये लोग डर रहे हैं कि उन्हें भारत से भगा दिया जाएगा इसलिए ये लोग सड़कों पर आकर बसें ट्रेनें और अन्य सरकारी संपत्ति को फूंक रहे हैं।

असली हिंदुस्तानी मोदी सरकार के नागरिकता संसोधन एक्ट के फायदों को समझ गए हैं। असली हिंदुस्तानी जान गए हैं कि मोदी सरकार ने जिहादियों की आबादी पर लगाम लगाने के लिए यह कानून बनाया है। देशवासी समझ रहे हैं कि जिहादी अभी से इतना आतंक मचा रखे हैं तो जब इनकी आबादी और बढ़ जाएगी तो भारत का क्या हाल करेंगे।