ACP राजपाल राणा से मिलने पहुंचे मुस्लिम समुदाय के लोग, फूल देकर किया अपनी शर्मिंदगी का इजहार

गुजरात, 21 दिसंबर: नागरिकता संशोधन कानून CAA के विरोध में देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन की खबरें सामने आई हैं। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के इस टकराव के चलते मेंगलुरु में 2 और लखनऊ में 1 प्रदर्शनकारी की मौत भी हो चुकी है।

गुजरात के अहमदाबाद के शाह-ए-आलम इलाके में भी प्रदर्शनकारियों ने जमकर हिंसा की। पुलिस वालों पर भीड़ जानवरों की तरह टूट पड़ी। इस हमले में डीसीपी, एसीपी, कई इंसपेक्टरों समेत 19 पुलिसवाले जख्मी हुए। उपद्रवियों की हिंसा का शिकार एसीपी राजपाल सिंह भी हुए।

सर पर चोट लगने के बाद एसीपी राजपाल राणा रुमाल बांध कर ड्यूटी पर डंटे रहे, राजपाल राणा की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जमकर उनकी तारीफ हुई, लेकिन जिन उपद्रवियों ने पत्थर मारकर एसीपी राजपाल राणा को घायल कर दिया था उनको अपनी गलती का एहसास हो गया।

गलती का एहसास होने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग गुलदस्ता लेकर एसीपी राजपाल राणा से मिलने पहुंचे, इस दौरान अपनी शर्मिंदगी का इजहार किया। और माफ़ी भी मांगी।